lion and rabbit story in hindi

Advertisement

एक जंगल में एक शेर रहता था जंगल में सिर्फ अकेले इसी शेर का राज था और अकेला यह शेर हर रोज बहुत से जानवरों को मारकर खा जाता था जिसकी वजह से जंगल के सभी जानवर बहुत ही ज्यादा परेशान थे

Advertisement

उन्हें हर रोज डर लगा रहता था कि कल  वह जिंदा रहेंगे या नहीं रहेंगे जिसकी वजह से वह हमेशा डरे और सहमे रहते थे इसी वजह से  उन्होंने एक समझौता करने का सोचा

इसलिए उन्होंने शेर के साथ एक समझौता किया की आपको भूख मिटाने के लिए हम में से किसी एक जानवर की जान की जरूरत होती है इसीलिए हम हर रोज ऐसा करते हैं कि हम में से कोई एक हर रोज आपके भोजन के रूप में आपके पास आ जाया करेगा

Advertisement

इससे दो फायदे होंगे कि कभी भी आपको जंगल में बार बार भूखे नहीं भटकना पड़ेगा और आपको कभी भी किसी भी जानवर का शिकार करने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा

और हम भी सुखी और चैन से अपने जीवन को जी सकेंगे साथ में जंगल में पूरी आजादी (freely) से कहीं भी कभी भी घूम सकेंगे और हमें किसी भी तरह का डर नहीं सताएगा

इस तरह से शेर समझौते के लिए तैयार हो गया और जंगल से हर रोज कोई ना कोई जानवर शेर के पास खाने के रूप में पहुच जाता था जिससे जंगल के सभी जानवर और शेर अपना भोजन पाकर खुश हो जाया करते थे

इन् कहानियो को जरुर पढ़े
शेर और चूहे की कहानी
कबूतर और चूहे की  कहानी
बिल्ली और बन्दर की कहानी
बन्दर और मगरमच्छ की कहानी 

एक बार एक खरगोश की बाजी (Turn) आई और आज इस खरगोश को शेर के भोजन के रूप में जाना था  पर यह खरगोश बहुत ही ज्यादा चालाक(clever) था और खरगोश बिल्कुल भी मरना नहीं चाहता था 

इसलिए खरगोश रास्ते में बहुत ही ज्यादा धीरे धीरे चल रहा था और सोच रहा था उस एक Plan भी समझ आया जिसकी वजह से वह Late हो गया और जब वह शेर के पास पहुंचा

तो उसने देखा Sher भूख के मारे तड़प रहा है और Sher ने जैसे ही खरगोश को देखा तो  तेजी से बुलाया और पूछा इतनी देर तक तुम कहाथे

खरगोश ने जवाब दिया महाराज हम पूरे पांच भाई थे पर आते समय रास्ते में एक दूसरा शेर मिल गया जो मेरे बाकी चार भाइयों को खा गया मैं किसी तरह से आपको यह सब बताने के लिए अपनी जान बचा कर आया हूं

शेर पहले से ही बहुत गुस्सा था और यह सब सुनकर उसे और भी गुस्सा(Angry) आ गया कि मेरे होते हुए इस जंगल में कोई और शेर कैसे शिकार कर सकता है 

शेर ने तुरंत बोला मुझे उस जगह ले चलो और खरगोश शेर को एक कुएं (Well) के पास ले जाता है और जब शेर कुए में झाकता है तो उसे अपनी परछाई (Shadow)दिखाई देती है उसे दूसरा शेर समझ कर शेर क्रोधित हो जाता है

और गरजता हुआ शेर कुआं में छलांग  लगा देता है कुआ बहुत ज्यादा गहरा होता है और इसमें बहुत सारा पानी होता है जिसकी वजह से शेर थोड़ी देर तक पानी में तड़पता है और थोड़ी देर बाद उसकी मृत्यु हो जाती है

इस तरह से खरगोश (rabbit) बड़ी चतुराई से अपनी और अपने अन्य जंगली दोस्तों की जान बचा लेता है 

यह भी पढ़े  जादुई चप्पल की कहानी 

 इस तरह हमें इस कहानी (story) से यह सीख (moral) मिलती है कि हम किसी भी कार्य को बुद्धि विवेक और समझदारी से करते हैं तो कोई भी कार्य असंभव नहीं है 

Leave a Comment