Sher aur chuha ki kahani

lion and mouse story in hindi – बहुत ही गर्मी का मौसम था हर रोज की तरह शेर अपने शिकार के लिए भटक रहा था दिनभर भटकने के बाद किसी तरह बड़ी मुश्किल से शाम को एक बहुत तेज हिरण का शिकार किया

जब शेर शिकार करके अपना पेट भर करके सो रहा था तभी एक छोटा सा चूहा शेर के पास आता है जो पास के ही एक बिल में रहा करता था और धीरे से शेर के ऊपर चढ़ गया और चूहा शेर के ऊपर चढ़कर उधम मचाने लगा इधर-उधर उछलने लगा

जिसकी वजह से थोड़ी देर में शेर की नींद खुल गई और शेर ने अपने पंजे से चूहे को दबोच लिया चूहा तेज से चिल्लाया और शेर से माफी मांगने लग गया कि आप मुझे छोड़ दो आप मुझे छोड़ दो मै कभी दोबारा से ऐसा नहीं करूंगा

मैं हमेशा आपके गुण गाऊंगा और कभी जरुर पड़ी तो आपके लिए जी कोई काम भी कर सकता हु शायद मैं किसी दिन आपके बहुत ही ज्यादा काम आ जाऊं शेर थोड़ी देर के लिए सोचा कि मैंने अभी अभी खाना खाया है और अभी मुझे कोई भूख भी नहीं है

और एक छोटा चूहा मेरे किसी काम का भी नहीं है इसलिए थोड़ी देर बाद शेर चूहे को गुदगुदा कर उसे छोड़ देता है

sher aur chuhe ki kahani
sher aur chuhe ki kahani

शेर जैसे ही चूहे को छोड़ता है चूहा दौड़ता हुआ जाता है और अपने बिल में घुस जाता है और फिर वह कभी भी दोबारा उस जगह पर नजर नहीं आता जहां पर शेर रहता था

कुछ और भी कहानिया भी पढ़े
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●
हाथी की कहानी 
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●

पर कुछ दिनों बाद जंगल में शिकारी शिकार करने आए और उन्होंने शेर को अपने जाल में फंसा दिया और पेड़ से लटका दिया उसके बाद वह शेर को ले जाने के लिए व्यवस्था करने लगे

तभी उसी समय चूहा वहीं से गुजर रहा था चूहे ने देखा यह तो वही शेर है जिसने उस दिन मुझ पर दया करके मुझे छोड़ दिया था और वह चुपके से शेर के पास गया और उसने धीरे धीरे सारे जाल को काट दिया जिससे शेर बाहर निकल गया

इस तरह से चूहे ने शेर की मदद करके उसे आजाद कर दिया चूहा शेर की मदद करके बहुत ही ज्यादा खुश था और इसलिए शेर ने उसे बहुत धन्यवाद भी दिया

इसके बाद शेर और चूहा बहुत अच्छे दोस्त बन गए और वह हमेशा एक दूसरे के साथ खेलने लगे इस तरह से कहानी यहाँ  पर समाप्त होती है अगर आपको ये कहानी अच्छी लगी तो आप चूहा और बिल्ली की कहानी जरुर पढ़े

कुछ और जानवरों की कहानी
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●
चूहा और बिल्ली की कहानी 
बन्दर और मगरमच्छ की कहानी 
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●

इस तरह से हमें इस कहानी से क्या शिक्षा मिलती है

कि हमें कभी भी किसी को भी छोटा नहीं समझना चाहिए आमतौर पर ऐसा होता है जब हम लोगों को छोटा समझने लगते हैं उनके कुछ कमियों के कारण पर जैसा की हमें शिक्षा मिलती है कि भगवान ने हर एक प्राणी को किसी न किसी गुण के साथ बनाया है और हर एक की अपनी अपनी क्षमता है

जिस तरह से एक तलवार सुई का काम नहीं कर सकती है उसी तरह से सुई भी तलवार का काम नहीं कर सकती है

उम्मीद करता हूं आपको यह कहानी बहुत ही अच्छी लगी होगी और आपने यह कहानी पढ़कर यह सबक जरूर लिया होगा की हमें कभी भी किसी को भी उसकी कमजोरी की वजह से छोटा बिल्कुल भी नहीं समझना चाहिए अगर आप भी कोई कहानी पोस्ट करना चाहते है तो आप हमें contact us पेज से जरुर Contact करे

हमें comment करके जरुर बताये आपकी ये Hindi story कैसे लगी

और अगर आप विडियो देखकर कहानी सुनना चाहते हैं तो आप इस विडियो को जरुर देखे

1 thought on “Sher aur chuha ki kahani”

Leave a Comment