Chuha billi ki kahani

चूहे और बिल्ली की कहानी बहुत पुरानी बात है एक जंगल में एक चूहों का एक गाव था जहा सभी ख़ुशी ख़ुशी रहते थे पर सिर्फ एक ही समस्या थी कयामत नाम की बिल्ली हर रोज एक न एक चूहे को खा जाती थी 

जिससे हर कोई परेशान था सभी चूहों ने मिलकर अपना एक घर जमीन के अंदर बना रखा था जो बहुत सारे अलग-अलग बिलों से जाकर मिलता था सभी चूहे बहुत ही परेशान थे

इसलिए चूहों के प्रधान ने एक दिन एक मीटिंग बुलाई और बिल्ली से छुटकारा पाने के लिए योजना के बार में सोचा पर वहां पर किसी के पास कोई योजना नहीं थी पर एक छोटा सा चूहा जो बहुत ही छोटा था उसने कुछ दिन पहले ही  अपनी मां को कयामत बिल्ली के हाथों खो दिया था

उसने कहां मेरे पास एक उपाय हैं पर सभी चूहे उसे देख कर हसने लगे और कहने लगे तुम बहुत छोटे हो तुम्हारे लिए यही भला होगा कि तुम अभी यहां चुप रहो

पर प्रधान ने नन्हे चूहे को बोलने का मौका दिया फिर छोटे चूहे ने बताया कि कयामत बिल्ली हर रोज हमारे बिलों के आस पास आकर छिप जाती है और हमें पता नहीं होता जिसकी वजह से हम अपनी जान गवा देते हैं

अगर बिल्ली के गले में घंटी बांध दी जाय तो हमें उसके बारे में पता चल जायेगा और फिर हम बाहर ही नहीं निकालेंगे सभी ने कहा ये तो ठीक है पर उस बिल्ली की गले में घंटी कौन बंधेगा
यह भी पढ़े – बन्दर की कहानी 

फिर नन्हा चूहा एक तरकीब बताता ही जिसे सुनने के बाद बहुत से लोग तैयार है और फिर एक दिन सभी चूहे एक दम से बिल से बाहर आते है और बिल्ली के घर पर जाते है

billi aur chuha ki kahani

कयामत बिल्ली सभी चूहों को देखकर हैरान हो जाती है और वो देखती ही की सभी चूहे एक नारा लगा रहे है कयामत बिल्ली की जय हो हमारी महरानी की जय हो 

बिल्ली देखकर हैरान हो जाती है साथ में डर भी जाती है कही ये सब मुझे मारने तो नहीं आ रहे है 

तभी नन्हा चूहा कहता है महरानी आज से हम आपको महरानी बना रहे है और अब आपको हमारा शिकार करने के  लिए मेहनत करने की जरुरत नहीं है आज से हम में से कोई एक चूहा आपकी भूख मिटाने के लिया आ जायेगा 

बिल्ली यह सुनकर खुश होती है और सोचती है अब मुझे घंटो समय ख़राब नहीं करना पड़ेगा और नन्हा चूहा कहता है महरानी हमारे पास आपके लिए एक उपहार है
यह भी पढ़े –  चूहा और शेर की कहानिया 

और फिर नन्हा चूहा घंटी निकलता है  बिल्ली अपना सर निचे झुका कर घंटी बंधवा लेती है और बहुत ही खुश होती है और फिर सभी चूहे बहुत ही नाचते है और बिल्ली घंटी बजाकर अपनी ख़ुशी जाहिर करती है 

उसके बाद नन्हा चूहा कयामत बिल्ली से कहता है की हम हर रोज शाम को आपके पास आ जायेगे और फिर सभी चूहे वापस ख़ुशी ख़ुशी अपने बिलों में चले जाते है 

और शाम होते ही बिल्ली चूहे का इंतज़ार करने लगती है पर कोई भी चूहा नहीं आता है बिल्ली थोडा और इंतजार करती है फिर समझ जाती है मुझे सभी ने मिलकर बेवकूफ बनाया है 

फिर क्या बिल्ली फिर से चूहे के बिलों के पास जाकर छिप जाती है  की अगर जैसे ही कोई आएगा मै खा जाउंगी मगर चूहों की टोली को घंटी की आवाज़ से पता चल जाता है और उन में से कोई भी बाहर नहीं आता है 

बिल्ली उस दिन भूखे वापस घर पर चली जाती है अगले दिन सुबह दुबारा आकर छिप जाती है  पर चूहों को दुबारा पता चल जाता है और बिल्ली को दुबारा भूखे जाना पड़ता है 

बिल्ली कुछ दिन और जाती है  पर बिल्ली को हमेशा भूखे ही वापस आना पड़ता है इसलिए बिल्ले दुबारा वापस वहा नहीं जाती है और अपना पेट गाव जाकर दूध पीकर करने लगती है
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●
जादुई पेंसिल की जादुई कहानी 
जादुई चक्की की कहानी 
जादुई मछली की कहानी 
●▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬●

इस तरह चूहों की बुधमानी से उनकी जान बच जाती है और बिल्ली को कभी पता ही नहीं चलता की ये सब घंटी की वजह से हो रहा है 

 

Leave a Comment