Animals stories in hindi for kids | Jangal ki kahani

 

एक जंगल में जंगल का राजा (king) शेर और उसका प्यारा दोस्त चीता रहते थे पूरा जंगल इनकी दोस्त (friendship) की दाग देता था पर एक दिन शेर छोटी सी बात को लेकर चीता से लड़ने लगा और उसके बाद कहने लगा मैं जंगल का राजा हूं और तुम्हें कल से मुझे राजा कहना होगा और आज हम दोनों के बीच की दोस्ती टूटती (break) है

उस दिन के बाद से Tiger कभी भी जंगल में नजर नहीं आया वह हमेशा के लिए जंगल को छोड़कर दूसरे जंगल में चले गया पर फिर भी शेर को अपने राजा होने पर गुरुर (Proud) था और वह मजे से राज करता रहा एक दिन शेर का सेनापति लोमड़ी जंगल में सबसे ज्यादा चोरी  करने वाले बंदर (money) को पकड़ कर लाया

Animals stories in hindi

तब शेर ने बंदर को मौत की सजा (Punishment) सुना दी और कहां तुम्हारी वजह से जंगल में बहुत से लोग परेशान हैं इसलिए मैं तुम्हें मौत की सजा सुनाता हूं तुम्हें आज से ठीक 2 महीने बाद जंगल के सबसे ऊंचे पहाड़ (mountain) से धक्का देकर मार दिया जाएगा और इस तरह बंदर को जेल (jail) में डाल दिया गया

 

jangal-ki-kahani
jangal–ki-kahani

Stories in hindi for kids

बंदर का एक बहुत ही प्यारा दोस्त हिरन था जब उसे पता चला कि उसका दोस्त गिरफ्तार (Arrest) हो गया है  तो वह बंदर से मिलना गया और कहां देखो दोस्त हमेशा तुमसे कहा करता था कि गलत (wrong) काम मत करो एक दिन तुम्हें इसकी सजा भुगतनी पड़ेगी

तभी बंदर ने कहा मुझे अपनी कोई परवाह नहीं है मुझे तो परवाह अपने परिवार (family) की है कि मैं उनके लिए कुछ भी नहीं कर पाया काश मुझे कुछ दिन मिल जाते हैं मैं उनके लिए कुछ कर पाता तभी बंदर का प्यारा दोस्त हिरण मायूस (Sad) हो गया और सोचने लगा काश मैं तुम्हारे लिए कुछ कर पाता

उसके बाद हिरण जंगल के राजा शेर के पास गया और कहां महाराज(My lord) क्या मैं कुछ दिनों के लिए हैं अपने दोस्त बंदर की जगह जेल में रह सकता हूं और आप मेरे दोस्त बंदर को कुछ दिनो की लिए जेल से निकाल (free) सकते हैं शेर ने कहां देख लो अगर तुम्हारा दोस्त कुछ दिनों बाद समय पर नहीं आता है तो उसकी सजा तुम्हें भुगतनी (die) पड़ेगी

हिरण ने कहा जी महाराज मै उसकी जगह पर मरने को तैयार (ready) रहूंगा अगर वह समय पर नहीं आता और उसके बाद हिरण को जेल में डाल दिया जाता है और बंदर को आजाद (free) कर दिया जाता है बंदर जाते समय हिरन से कहता है दोस्त तुम सिर्फ कुछ दिन इंतजार (wait) करो मैं बहुत जल्द वापस आ जाऊंगा

लगभग 2 महीने पूरे हो जाते हैं पर बंदर वापस (return)नहीं आता और जंगल का राजा हिरण से आकर कहता है देख लो तुम्हारा दोस्त अभी भी नहीं आया है और कल तुम्हे पहाड़ से गिरा (throw) कर सजा दी जाएगी हिरण कहता है कोई बात नहीं महाराज मैं सजा के लिए तैयार हूं

और अगले दिन हीरन को जंगल के सबसे ऊंचे (highest) पहाड़ पर ले जाया जाता है उसी समय पर बन्दर आ जाता है और कहता है बहुत-बहुत शुक्रिया (thanks) मेरे दोस्त अब तुम आजाद हो और मैं अपनी सजा भुगत लेता हूं तभी हिरण कहता है मेरे दोस्त तुम क्यों आए  तुम्हें नहीं आना चाहिए था

 तुम वापस चले जाओ मै तुम्हारी जगह अपनी जान (life) दे दूंगा शेर यह सब कुछ देख रहा होता है और उसे इन दोनों की दोस्ती देखकर रहम आ जाता है और शेर तुरंत कहता है कि तुम दोनों में से किसी को मरने की जरूरत नहीं है मैं आज इस बंदर की सजा माफ (forgive) करता हूं पर भविष्य (future) में तुम कभी भी दोबारा चोरी नहीं करोगे

उसके बाद बंदर और हिरन खुशी-खुशी (happily) वापस चले जाते हैं और शेर दोड़ता हुआ अपने दोस्त चीता के पास जाता है और कहता है मेरे प्यारे दोस्त मुझे माफ कर देना मैं तुम्हारी सच्ची दोस्ती को एहसास (realise) ही नहीं कर पाया

इस तरह में इस कहानी से शिक्षा (moral) मिलती है कि हमें दूसरों की अच्छाइयों से सीखना चाहिए और हमेशा अच्छे काम करते रहना चाहिए क्योंकि जब आप अच्छा काम करते हैं तो यह हमें और साथ में दूसरे लोगों को भी प्रेरित (motivate) करता है

More animals  story in hindi

Sher aur chuha ki kahani

Bandar aur billi ki khanai

Jadui machli ki  kahani

Lion and rabbit story in hindi

 

Jangal ki kahani

animals-story-in-hindi
animals-story-in-hindi

एक जंगल में पांच बंदरों की टोली (group) ने जंगल में सभी जानवरों को बहुत ज्यादा परेशान कर रखा था यह  5 bandar बहुत ही ज्यादा उछल कूद करते थे और जंगल के सभी पशु पक्षी को बहुत ज्यादा परेशान करते थे कभी यह किसी को डंडे (stick) से मारते थे तो कभी  यह पक्षियों के अंडे चुराकर फोड़ देते थे

 कभी-कभी  यह दूसरे जानवरों के घरों से खाने पीने (food) की चीजें भी चुरा लेते थे क्योंकि यह सभी बंदर बहुत ही ज्यादा तेज (fast) थे इन्हें कोई भी नहीं पकड़ पाता था और फिर एक दिन इन बंदरों ने सोचा  क्यों ना हमें दूसरे जंगल में जाकर जानवरों को परेशान करना चाहिए

 और इस तरह दूसरे जंगल में गए जहां पर सिर्फ कंगारू रहा करते थे और उन्होंने इन कंगारुओं को  बहुत ज्यादा परेशान करना शुरू कर दिया वे  कंगारू से खाने की चीजें छीन लिया करते थे और कभी कभी जब कंगारू रात को सो रहे होते थे तो इनके ऊपर पक्षियों के अंडे (eggs) चुराकर मारते थे

 इससे दोनों जंगल के जानवर बहुत ज्यादा  परेशान हो चुके थे और उनकी सहायता (help) करने के लिए कोई भी नहीं था इसलिए इन्होंने सोचा अब हमें खुद ही कुछ ऐसा करना होगा कि  इन सभी बंदरो को बहुत ही अच्छा सबक (Lesson) मिले

 तभी  कंगारू का सरदार (king) बंदर के सरदार को आमंत्रण पर बुलाता है और कहता है हम आपको दावत (party) देना चाहते हैं और साथ में आपको जंगल का राजा बनाना चाहते हैं सभी खुशी-खुशी दावत पर जाते हैं क्योंकि उन सभी को जंगल में एक उपाधि (Post) दी जाने वाली थी

 वह जैसे ही दावत पर जाते हैं उन्हें दावत देने से पहले कंगारू एक छोटा सा खेल (game) खेलते हैं और कहते हैं हम यहां  पर कुछ मिठाईयां रख रहे हैं और आप सभी बंदरो  को ये मिठाई (sweet) बिना हाथ लगाए खाना है इसलिए आप सभी के हाथों को बांध दिया जाएगा

 सभी बंदर कहते हैं इसमें कोई बड़ी बात नहीं हमारे लिए बाएं हाथ का खेल है और इसके बाद सभी बंदरों के हाथों को बांध (Knot) दिया जाता है जैसे ही बंदरों के हाथों को बांधा जाता है जंगल के सभी जानवर मिलकर पांचों बंदरों की बुरी तरह से पिटाई (beat) कर देते हैं

और उस दिन के बाद बंदर कभी भी जंगल में किसी के साथ भी कोई गलत काम (wrong work) नहीं करते और वह हमेशा जंगल के हर जानवर से डरकर रहते हैं

और इस तरह हमें इस गाने से शिक्षा (moral) मिलती है कि हमें कभी भी किसी को भी फालतू में परेशान नहीं करना चाहिए क्योंकि इसके बदले हमें बहुत बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है 

More story in hindi for kids

> Rat and pigeon story in hindi

> Magic pencil

> Jadui ghar

> Jadui chappal

> Jadui angoothi

> Birbal ki  khichdi

> Moral story in hindi

 

Leave a Comment